Friday, 15 July 2016

सोशल डायरी पर जनसमर्थन का असर, डा. जाकिर नाईक चैनलों पर ठोकेंगे मानहानि का मुकदमा

दैनिक सोशल डायरी 24 ने सबसे पहले 11 जुलाई को खबर प्रकाशित की थी, जिसमे मीडिया द्वारा विश्वप्रसिद्ध इस्लाम के प्रचारक डॉक्टर जाकिर नाईक से माफ़ी मांगने और जाकिर नाईक इन्होने मीडिया पर मानहानि का मुकदमा ठोकने की बात की थी और पाठको से राय ली थी... सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, लिंक्डइन, ब्लॉग, गूगल प्लस पर लाखो लोगो ने इस बात पर सहमती जताई थी की डॉक्टर जाकिर नाईक को चाहिए की, मीडिया वालो को सबख सिखाये और उनपर मानहानि का मुकदमा दर्ज कराये. लेकिन कुछ बुद्धिजीवियों ने यह भी स्पष्ट किया था की मीडिया ने जो जाकिर नाईक के खिलाफ मीडिया ट्रायल चलाया वह जानबूझकर चलाया और फ़ोकट नहीं चलाया इसलिए मीडिया माफ़ी नहीं मांगेगा. बिलकुल वैसे ही हुआ. 
डेली सियासत हिंदी के अनुसार डॉक्टर जाकिर नाईक ने ऐलान किया की भारत के 10 बड़े चैनलों पर वह मानहानि का मुकदमा ठोकेंगे.


मुंबई: प्रसिद्ध इस्लामी विद्वान डॉ जाकिर नाइक ने मदीना से स्काइप के जरिए प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया और मीडिया के सवालों का खुलकर जवाब दिया। उन्होंने मीडिया में खुद पर लगाए जा रहे आरोपों पर सफाई पेश करते हुए कहा कि देश के 10 बड़े चैनलों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराने वाला हूँ। उन्होंने कहा कि मीडिया ने मेरे बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करने और इसे पृष्ठभूमि से बाहर ले जा कर दिखाया। मेरी भाषणों के साथ छेड़छाड़ की गई।

डॉ नाइक ने सभी तरह के आतंकवादी घटनाओं की निंदा करते हुए कहा कि यदि सकारात्मक सोच और किसी पूर्वाग्रह के बिना मेरे बयानों का विश्लेषण करेंगे तो पाएंगे कि शांति का पैग़म्बर हूँ।

ओसामा को आतंकवादी नहीं मानने वाले बयान से संबंधित एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह बयान 1998 का है, जब 9/11 नहीं हुआ था और जो बयान दिखाया गया है, उसके साथ भी छेड़छाड़ की गई। उन्होंने कहा कि अमेरिका में मैंने कहा था कि जो कोई भी बेगुनाहों को मार देता है, वह गलत है। मैं जॉर्ज बुश को आतंकवादी बताया था। इसके अलावा भी उन्होंने मीडिया के कई सवालों का जवाब दिया।

No comments:

Post a comment