Sunday, 22 March 2020

CoronaVirus से हजार गुना खतरनाक Spanish flu, साढ़े तीन करोड़ की ली जान

CoronaVirus से हजार गुना खतरनाक Spanish flu, साढ़े तीन करोड़ की ली जान
Last pandemic 1919 मे थी जब Spanish flu 263 दिनों मे पूरे विश्व मे फैला था और कुल 3.3 करोड़ लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे थे । उस वक्त यातायात की सुगमता कितनी थी यह बताने की आवश्यकता नहीं है । उसको इतने दिन लगे पूरी दुनिया मे फैलने मे इसलिए एक समय के बाद उसकी ताकत कमजोर हो गई थी क्यूंकी उसमे Genetic drift चालू हो गया था ।


वहीं CoronaVirus के केस मे देखे तो ये Spanish flu से  1/5 समय मे पूरी दुनिया मे अपने पाँव पसार चुका है । इसलिए यह ज्यादा घातक है क्यूंकी जब तक इसमे ड्रिफ्ट आएगा तब तक यह कइयों को लील चुका होगा । इसका बचाव का उपाय है की आप समुचित उपाय अपनाए , नियमित रूप से पानी का सेवन करे, जितना हो सके गले को साफ रखे (गरारे करे) और सबसे बड़ी बात घबराएं नहीं। फ्लू ही तो है बचाव कर लो अपना भी औरों का भी।


CoronaVirus से सिर्फ 9000 के लगभग ही मौतें हुई हैं
पूरी दुनियाँ में दो महीने में अभी तक CoronaVirus से सिर्फ 9000 के लगभग ही मौतें हुई हैं, वो भी सभी 60+ थे, बुजुर्गों की इतनी मौतें सामान्य स्थितियों में भी होती होंगीं। डरें और डराएं नहीं अपने घर के बुजुर्गों को घर पे ही रखें, उनको आराम दें उनके लिए बढ़िया खाने-पीने का इंतजाम करें, घबराएं नहीं संयम बनाये अपने आसपास के लोगों का सहयोग करें।

सोशल मीडिया पर कई लोग CoronaVirus को Biological Weapon बता रहे हैं, वो लोग शायद अपनी पोस्ट को सनसनीखेज बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।


अगर Corona Virus Synthetic होता तो यह नियंत्रित होता, लेकिन Corona Virus पूरी तरह अनियंत्रित हो चुका है। दुनियाँ प्रो अमेरिका प्रो रसिया और प्रो चाइना हिस्सों में बंटी हुई है और कोरोना ने सभी ग्रुपों पर हमला किया हुआ है, अगर मुनाफे (क्योंकि चाइना से लेकर अमेरिका तक इसने कोहराम मचाया हुआ है) के लिए लिए कोरोना को Biological Weapon के तौर पे बनाया गया होता तो अभी तक इसकी एंटीडॉट मार्केट में आ चुका होता और बनाने वाले मोटा मुनाफा कूट रहे होते।

कोरोना मानव को प्रकृति की फटकार है, इंसानों के दुष्कर्मो का नतीजा है, अभी समय है सुधर जाने का, प्रकृति बहुत दयालु है।


No comments:

Post a comment