Monday, 6 April 2020

सांप्रदायिक जहर घोलना मीडिया को पडा भारी ZEE, ABP, AAJ TAK, INDIA टीवी के खिलाफ शिकायत दर्ज

सांप्रदायिक जहर घोलना मीडिया को पडा भारी ZEE, ABP, AAJ TAK, INDIA टीवी के खिलाफ शिकायत दर्ज
सांप्रदायिक जहर घोलना मीडिया को पडा भारी ZEE, ABP, AAJ TAK, INDIA टीवी के खिलाफ शिकायत दर्ज
मुम्बई : लगातार एक हफ्ते से तब्लीग जमात और मुसलमानो को बदनाम कर उनके खिलाफ देश के हिंदुओं के दिलों में नफरत का जहर घोला जा रहा है । जिसके चलते एक महमूद नाम के व्यक्ति ने इसलिए आत्महत्या कर ली के, उसके पड़ोसी उसे तब्लीगी लोग कोरोना की महामारी फैला रहे है तू भी मरेगा हमे भी मरवाएगा मुल्ले जैसे ताने और बार बार अपमानित कर रहे थे उसने ताने और अपमान से तंग आकर आत्महत्या कर ली । दूसरी घटना है जिसमे दिलशाद नाम के व्यक्ति को कुछ हिन्दू कट्टरपंथीयो ने इसलिए मार मार के अधमरा किया कि वह तब्लीग जमात से जुड़ा हुआ था । एनडी टीवी के रिपोर्ट के अनुसार दिलशाद की लॉन्चिंग की गई उसकी हालात गंभीर बताई जा रही है । तेलंगाना, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश के कई देहातों में मुसलमानो का जीना मोहाल हुआ है । लोग मुसलमानो को राशन बेचना, सार्वजनिक बोरवेल से पानी लेने के लिए भी माना कर रहे है । ऐसा प्रतीत हो रहा है कि आधुनिक जमाने मे मुसलमानो को अतिशूद्र अछूत घोषित कर दिया है । तेलंगाना में ऐसे कई मामले सामने आए है । मुसलमानो में डर का माहौल है ।


यह सब राष्ट्रद्रोही मीडिया द्वारा फैलाये गए आतंक के कारण ही हो पा रहा है । गौरतलब हो के कही भी कोई भी घटना घटी तो उसे मुसलमानो से जोड़कर मुसलमानो को आतंकित किया जा रहा है । इस संबंध में हमने "पड़ताल" इस टाइटल के साथ खुलासा किया है । और संबंधित घटनाओं के इलाके के पुलिस में ज़ी न्यूज़ और सुदर्शन न्यूज़ को झूठ खबरे के कारण उनजे फटकार लगाई और ट्वीट तथा लिंक डिलीट करने को कहा । आपको बता दें कि गुजरात हाइकोर्ट में सरकार ने बताया कि तब्लीग जमातियों की जांच पूरी हो चुकी है और उनमें एक भी संक्रमित नही पाया गया । बावजूद इसके मीडिया द्वारा मिस्लमानो के खिलाफ जहर उगलने की खबरों पर रोक नही लगाई गई । जो देश की एकता, अखंडता और सुव्यवस्था के लिके बहुत बड़ा खतरा साबित हो सकता है ।


इसी खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र के परभणी जिले के एक एडवोकेट सय्यद जुनैद सय्यद जिलानी द्वारा ZEE NEWS, AAJ TAK, ABP NEWS  के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है । और एडवोकेट ने सोशल मीडिया द्वारा कहा के हर जिले से राहट्रद्रोही मीडिया पर FIR होगी तब ही बेलगाम मीडिया द्वारा फैलाये का रहे जहर को रोका जा सकता है । और देश मे संरदायिक तनाव निर्माण होने से रोका जा सकता है ।


वायरस मीडिया झूठ परोस कर हमारे देश भारत की पहचान "अनेकता में एकता" के आपसी भाईचारा,एकता को खंडित कर नफरत का माहौल बनाने का कितना प्रयास करती है आप सभी अपनी आँखों से देखे ले। तब्लीकी जमात के विरुद्ध झूठी खबर चलाने वाली वायरस मीडिया की खबर का फ़िरोज़ाबाद पुलिस के द्वारा खंडन करना पड़ा जिसके परिणामस्वरूप ज़ी न्यूज़ उत्तराखंड ने अपने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया जिसका स्क्रीन्शाट पेश है, दूसरे स्क्रीन्शाट में भ्रामक ख़बर वाला ‘ट्वीट अनुपलब्ध’ (This Tweet is unavailable) देखा जा सकता है।






1 comment:

  1. 100% right , right action to stand up all together

    ReplyDelete