Sunday, 10 May 2020

एक और बड़ा हादसा मजदूरों पर बना कहर पैदल चल रहे 5 मजदूरों की मौत, 11 घायल

एक और बड़ा हादसा मजदूरों पर बना कहर पैदल चल रहे 5 मजदूरों की मौत, 11 घायल
औरंगाबाद रेल हादसे के बाद प्रवासी मजदूर एक बार फिर हादसे का शिकार हुए हैं। मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के पाठा गांव में आम से लदे हुए एक ट्रक के अचानक अनियंत्रित होकर पलटने से उसमें छिपे पांच मजदूरों की मौत हो गई, जबकि 11 अन्य घायल हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस ट्रक में करीब 18 मजदूर सवार थे, ये सभी इसमें छिपकर तेलंगाना के हैदाराबाद से उत्तर प्रदेश में अपने घर जा रहे थे। परंतु पाठा गांव के पास यह ट्रक पलट गया। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। मौके पर क्रेन और जेसीबी की मदद से रेस्क्यू किया जा रहा है।

नरसिंहपुर के जिलाधिकारी दीपक सक्सेना ने बताया कि यह ट्रक आम लेकर हैदराबाद से आगरा जा रहा था। इसमें चालक और सहचालक समेत कुल 18 लोग सवार थे। इस हादसे में घायल हुए दो लोगों को जबलपुर रेफर किया गया है। इनमें से एक के सिर में चोट और दूसरे को फ्रैक्चर है। इसके अलावा मृतकों सहित सभी के कोरोना सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

इस दुर्घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा “नरसिंहपुर में ट्रक पलटने से हुए हादसे में कई अनमोल जिंदगियों के असमय काल कवलित और घायल होने के समाचार से अत्यंत दुःखी हूं। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि!”

लॉकडाउन के दौरान मजदूरों की घर वापसी और रास्ते में हादसे का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार सुबह महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में रेल की पटरियों पर सो रहे 16 प्रवासी मजदूरों की एक मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत हो गई थी। औरंगाबाद में बदनापुर-करमाड रेलवे स्टेशन के पास से जब एक मालगाड़ी गुजर रही थी, तब उसने पटरी पर सो रहे 16 से अधिक मजदूरों को कुचल दिया, जबकि कुछ अन्य मजदूर घायल भी हुए थे।

No comments:

Post a comment