Tuesday, 21 April 2020

सर्वे : PM पद की ओर तेज़ गति से बढ़ रहे 'उद्धव ठाकरे' को बदनाम करने की साजिश चरम पर

सर्वे : PM पद की ओर तेज़ गति से बढ़ रहे 'उद्धव ठाकरे' को बदनाम करने की साजिश चरम पर
नई दिल्ली : (सोशल डायरी ब्यूरो)
देशभर में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की चर्चा जोर-ओ-शोर से की जा रही है । भक्तों के अलावा राज्य के सभी जाती धर्म के लोगों के दिलों पर राज कर रहे उद्धव ठाकरे । सीधा-साधा लिबास, हर वक्त जनता से संपर्क, कड़ी कानून व्यवस्था, आयोजन-नियोजन का प्रवर्तन । इन सभी मुद्दों को लेकर काई चर्चा हो रही है । उसमे विशेष यह है की, मुख्यमंत्री बनने से पहले जो लोग उनका विरोध कर रहे है आज वही लोग उनके साथ हर वक्त खड़े दिखाई दे रहे है । शतप्रतिशत मुस्लिमों का भी सहयोग उद्धव ठाकरे को मिल रहा है ।

आपको बता दें की SD24 News Network द्वारा गुप्त सर्वे के अनुसार उद्धव ठाकरे के कट्टर विरोधी भी अब उन्हें अपना मानने लगे है । और उनकी जी भर के तारीफ़ करने लगे है । इसके साथ ही मुस्लिम समुदाय भी चाह रहा है की उद्धव ठाकरे ही दोबारा मुक्यमंत्री बने । यदि अगले 5 साल भी उद्धव ठाकरे ही मुख्यमंत्री बने रहे तो संभव है प्रधानमंत्री की रेस में सबसे आगे रहेंगे । बुद्धीवियों का मानना है की इस बात का अंदेशा बीजेपी को हो चुका है इसीलिए महाराष्ट्र की महा-आघाडी सरकार गिराने के लिए निचले लेवल की घटिया साजिशे रची जा रही है । फिर वह बांद्रा स्टेशन की भीड़ हो या पालघर क दुखद घटना हो ।

एक तरफ पालघर में भीड़ द्वारा मारे गए दो संत और उनके ड्राईवर की मौत पर शोक मनाया जा रहा है और अपराधियों को कड़ी सज़ा की मांग की जा रही है । तो दूसरी तरफ भाजपा IT सेल द्वारा मोब लिंचिंग को सांप्रदायिक रंग देने की पूरी कोशिश की जा रही है. आपको बता दें की सोशल मीडिया पर IT सेल के लोगों ने यह अफवाह फैलाई थी की, 'साधुओं के भेस में मुसलमान कोरोना संक्रमित करने के लिए आ रहे है, उनको सबख सिखाया जाए' इस तरह के मेसेजस क हजारो स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर घूम रह है । कई लोगों के खिलाफ कारवाही की जा चुकी है । महाराष्ट्र पुलिस ने लगभग 110 लोगों को गिरफ्तार किया है । मुख्यमंत्री और महाराष्ट्र के गृहमंत्री द्वारा उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए गए है । जिसके बाद सोशल मीडिया पर फैलाई गयी अफवाह के पोस्ट और ट्विट डिलीट करने की होड़ मची हुई है । कई लोगों ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट भी डिलीट कर डाले है.

No comments:

Post a comment