Monday, 1 June 2020

लोकतंत्र जब असली रंग में आता है, तब सत्ता को बंकरो में छुपना पड़ता है।

SD24 News Network
लोकतंत्र जब असली रंग में आता है, तब सत्ता को बंकरो में छुपना पड़ता है।
White House के बाहर सैकड़ों प्रदर्शनकारियों के इकट्ठा होने और पथराव करने के बाद America President Donald Trump को White House के बंकर में ले जाया गया। एसोसिएटेड प्रेस (एपी) के अनुसार, यह घटना शुक्रवार रात हुई जब George floyd की मौत के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कई शहरों में फैल गया। एपी की रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रम्प ने बंकर में लगभग एक घंटा बिताया, जिसे आतंकवादी हमलों जैसी आपात स्थितियों में उपयोग के लिए डिज़ाइन किया गया था।

प्रदर्शनकारियों में से एक ने पत्थर से White House की खिड़की को निशाना बनाया। जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए White House के पास आंसू गैस के गोले दागे। इसके बाद White House की सभी लाइट बंद कर दी गईं और अंधेरा कर दिया गया। कानून प्रवर्तन सूत्र और इस घटना से संबंधित एक अन्य सूत्र ने बताया कि अमेरिका की प्रथम महिला Melania Trump और उनके बेटे बैरन को भी बंकर में ले जाया गया था। प्रोटोकॉल के अनुसार, अगर अधिकारी Presidential trump को बंकर में ले जाते हैं तो उनके साथ सुरक्षा प्राप्त लोगों को भी वहां ले जाया जाता है।

White House के प्रवक्ता जुड डीरे ने कहा “White House Security Protocol और निर्णयों पर टिप्पणी नहीं करता है।” गुप्त सेवा ने कहा कि यह अपने सुरक्षात्मक कार्यों के साधनों और तरीकों पर चर्चा नहीं करता है। राष्ट्रपति के बंकर में जाने की खबर सबसे पहले The new york times ने चलाई थी।

वहीं रविवार को प्रदर्शनकारियों ने सड़क के संकेतों (साइन बोर्ड) और प्लास्टिक बाधाओं का उपयोग करते हुए White House के पास आग लगा दी। कुछ लोगों ने पास की एक इमारत से एक अमेरिकी झंडा खींचा और उसे आग के हवाले कर दिया। दूसरों ने पेड़ों से शाखाओं को काट के आग लगा दी।

कई शहरों में प्रदर्शनकारियों ने कॉनफेडरेट स्मारकों को निशाना बनाया। Virginia, Carolinas and Mississippi में स्मारकों में तोड़फोड़ की। 17 शहरों में करीब डेढ़ हजार प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया। University of Mississippi परिसर में शनिवार को एक कोनफेडरेट स्मारक पर पंजे के लाल निशान के साथ ‘आध्यात्मिक नरसंहार’ लिखा गया।

No comments:

Post a comment