Tuesday, 12 July 2016

जाकिर नाईक के सर के बदले 50 लाख और हजारो किसानो के लिए कुछ नहीं ? क्या वह हिन्दू नहीं ?

हमेशा विवादित बयानों से सुर्खियों में रहने वाली साध्वी प्राची ने फिरसे एकबार विवादित बयान दे कर सुर्खियों में छा गयी है. साध्वी प्राची ने कहा की, डॉक्टर जाकिर नाईक का सर कलम करने वाले को 50 लाख का इनाम देगी. सोशल मीडिया पर कई लोगो ने बताया की 50 लाख रुपये व्यर्थ करने से बेहतर है साध्वी प्राची के रिश्ते में भाई लगने वाले हजारो हिन्दू किसानो ने आत्महत्याए की है, और आज भी यह सिलसिला जारी है. अगर साध्वी के पास पैसो की इतनी बाढ़ आई हो तो इस बाढ़ का रुख अपने ही भाइयो हिन्दू किसानो की तरफ मोड़ दे. बीजेपी के कुछ सांसदों और विधायको के बयानों से ऐसा लगता है की, इनको सिर्फ मुसलमानों के खिलाफ झर उगलने के लिए ही बनाया गया है. अगर यह सिर्फ मुसलमानों के दुश्मन होते तो हिन्दुओ की समस्याओं का हल निकालते. अगर यह हिन्दू हितचिन्तक होते तो आज हजारो किसान आत्महत्या नहीं करते. निर्दोष मुसलमानों के सर की कीमत लगाने के लिए और कातिलो को देने के लिए इनके पास पचास पचास लाख रुपया मिल जाता है. लेकिन अपने ही हिन्दू भाइयो के लिए पचास रुपया भी नहीं मिलता. आपको याद दिला दे की, यह वाही साध्वी प्राची है जिसने हिन्दू किसानो के लिए अबतक एक शब्द भी नहीं कहा. पैसा खर्च करना तो दूर की बात.

हेल्परूम डॉट इन द्वारा प्रकाशित खबर निचे दे रहे है....
विश्व हिंदू परिषद की विवादित नेता साध्वी प्राची ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने यह बयान इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के खिलाफ दिया है। साध्वी प्राची ने डॉ नाइक पर निशाना साधते हुए ऐलान किया है कि जो कोई भी सऊदी अरब जाकर जाकिर नाइक का सिर काट कर लाएगा, उसे 50 लाख का इनाम दिया जाएगा।




साध्वी प्राची ने कहा है कि जाकिर नाइक हिंदुस्तान का सबसे बड़ा दुश्मन है। वह धर्मगुरु बनकर आतंकवाद की पौध तैयार कर रहा है। इन धर्मगुरुओं की... मुस्लिम धर्मगुरुओं की, सबकी जांच होनी चाहिए। आज ये कठघरे में खड़े हैं। आज फतवा जारी क्यों नहीं कर रहे? और मैं निवेदन करना चाहती हूं कि सऊदी अरब कोई भी व्यक्ति जाकर के, इसकी (जाकिर नाइक) गर्दन काटकर के लाए। हिंदुस्तान के सबसे बड़े पेड़ पर लटकाए तो मैं उसको इनाम दूंगी, आकर के 50 लाख रुपये लेकर जाए।

शांति और अमन का पैगाम देने वाले भगवे लिबास में जुबान से जहर उगलने वाली  साध्वी प्राची अब किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी, जो हमेशा अपनी जहरीली बातों की वजह से विवादों में रहती हैं। हांलाकि यह पहला मौका नहीं है जब साध्वी प्राची ने ऐसा कोई विवादित बयान दिया है।
साध्वी प्राची ऐसे बयानों को लेकर सुर्खियां बटोरने में उस्ताद हो गई हैं। शायद यही वजह है कि उनका ऐलान यहीं खत्म नहीं हुआ। जाकिर को हिंदुस्तान का सबसे बड़ा दुश्मन बताने के बाद उन्होंने एक कदम और आगे बढ़ाया और कश्मीर के बिगड़े हालात पर काबू पाने का अपना नुस्खा पेश कर दिया।

अमरनाथ यात्रा बीच में रुकने पर उन्होंने कहा भोले नाथ के दर्शन करने के लिए जो यात्री यात्रा पर गए हैं जल्दी से जल्दी उनकी यात्रा प्रारम्भ कराई जाए और जो शैतान फिर भी नहीं मान रहे हैं। अमरनाथ यात्रियों को परेशान कर रहे हैं। उनके लिए मेरा खुला चैलेंज है की वो भी कल हज यात्रा के लिए जाएंगे हिंदुस्तान के किसी भी कोने से हज यात्रा करके दिखाए।


सावन में डीजे बजाने पर रोक के खिलाफ हुंकार भरना, गंगा-जमुनी तहजीब के उलट देश को मुस्लिम मुक्त बनाने का ऐलान करना। एक खास समुदाय को आतंकवाद पैदा करने की मशीन बोलना। विवादों वाली साध्वी प्राची के ऐसे बयान उनकी पहचान बन चुके हैं। साध्वी उसी कड़ी को आगे बढ़ा रही हैं। अब ये कानून और व्यवस्था बनाने वालों को सोचना है कि इस साध्वी का क्या किया जाए?
PM मोदी जी को साधवी प्राची के बारे मे भी बोलना चाहिये येे समाज के लिये खतरनाक हे या वरदान

No comments:

Post a comment